Search!!तलाश!!

Life goes on hitting the ups and downs 
I am in search of hidden comfort in the hands of me, 
We are burdened with cumbersome minds 
I am looking for a halted prasamukun moment for me, 
Tala Talaiya and Darya feel the dry ground 
Not only thirst is left for me, 
Sweethearted trees are on the dunes of sand 
I am looking for a nude outfit with all the needs, 
Dancing in the courtyard without a wall 
Just like this, I am looking for a happy, 
Parinde Ghosla is made by wearing straws without getting tired 
I am looking for such a unimaginable hard-fought life, 
In the wanders, they snatch away all the peace of each other 
I am looking for the world to sleep, 
What a strange relationship with the thirst of the sea 
I am looking for such a marvelous fisherman
||तलाश||

उतार चढाव का शिकार होकर आगे बढती है जिन्दगी

हाथों की लकीरों में छिपे हुए सुकून की तलाश है मुझे,

बोझिल मन से ढोया है हमने उदासियों का बोझ हमेशा

मुद्दतों से एक ठहरे हुए पुरसुकून लम्हें की तलाश है मुझे,

ताल तलैय्या और दरिया सूखी जमीन महसूस होते रहे

प्यास ही ना रहे बाकी ऐसे आबे अलम की तलाश है मुझे,

बालू के टीलों पर उगी हुई झाडियों में ही खुश हैं ततैईयें

सारी ही जरूरतों से बेवास्ता एक घरौंदे की तलाश है मुझे,

बिना चाहरदीवारी के आंगन में नाचता है मोर मस्त होकर

बस कुछ ऐसे ही तो खुशनुमाँ आलम की तलाश है मुझे,

बिना थके तिनके इक्टठा कर बनाते हैं परिन्दे घौंसला

ऐसी ही बेबाक जद्दोजहद भरी जिन्दगी की तलाश है मुझे,

फिरकों में बंटकर छीनते हैं सब एक दूसरे का चैन सुकून

बेफिक्र होकर सो जाऊं मैं उस दुनियां की तलाश है मुझे,

समुन्दर का प्यास से है कैसा अजीबो गरीब रिश्ता नाता

खुश्कमिजाजी लगे फिजूल ऐसे समुन्दर की तलाश है मुझे।

“Pkvishvamitra”

11 विचार “Search!!तलाश!!&rdquo पर;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s