करूण रूदन!!

सीरिया में नृशंसता तांडव कर रही है और मानवता अपने शाब्दिक निहितार्थों पर लज्जित है,विश्व के मानवतावादियों का मौन मानवता को रक्तरंजित होने का अवसर प्रदान कर रहा है,देश/जाति/धर्म जैसे विषय सदैव मानवता के सम्मुख गौण हो जाते हैं,गौण हुए भी हैं,किन्तु सीरिया के सम्बन्ध में समस्त मानवतावादी संगठन मौन अवस्था को प्राप्त करते हुए अज्ञातवासीय स्थिति धारण कर गये प्रतीत होते हैं,टवीटर से उठाये गये चित्रों में जो अबोध बच्चे नृशंसता से मारे गये हैं वह किसी सत्ता/शक्ति के मार्ग में बाधक नहीं थे,मानवीय संवेदनाओं से हीन ऐसा नृशंस हत्यारा शासक वैश्विक मौन के कारण सशक्तता अर्जित करते हुए ईश्वरीय स्वरूप स्वीकार किये जाने वाले अबोध शिशुओं का वध कर/करा है,निरीह जनता के साथ व्यवहारित यह नृशंसता घृणित एवम् निन्दनीय है,कृपया प्रत्येक स्तर पर इसके विरूद्ध आवाज उठाकर मानवता को संरक्षित करने का प्रयास करें,विश्व का प्रत्येक अबोध शिशु अपने जीवन को जीने का अधिकारी है,हम उसके इस अधिकार हनन का विरोध सदैव करेंगे,इस विचार से ओत प्रोत होकर सीरियाई बच्चों के लिए प्रयाय तथा प्रार्थना करें।-PKVishvamitra

In Syria, cruelty is tarnishing and humanity is ashamed of its literal implications, the silent humanism of the world is giving humanity an opportunity to be blooded, subjects such as country / caste / religion always become secondary to humanity, have become secondary There are also, but all humanist organizations in Syria seem to be carrying an unconscious state while acquiring a silent state, from the twitter In the painted pictures, the children who were killed by childlessness were not obstructed in the path of any power / power; the death of such infidel children as accepting divine form while acquiring power due to such a devastating killer ruler global silence Doing / doing, dealing with the inhuman people, this dishonesty is disgusting and condemnable, please raise human voice against each level on this issue. Try to protect, every obscure child in the world is entitled to live her life, we will always oppose her abrogation of this right, praying and praying for Syrian children by being inspired by this idea.- PKVishvamitra

3 विचार “करूण रूदन!!&rdquo पर;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s