The Reality!!असलियत!!

Sometimes the high rise buildings on their height 
Raises questions on their own basic fact, 
Buldhani’s are the foundations of old chittagong graveyards 
Tangled eyes show the status of the height, 
The sky also comes with powerful towers on the ground 
Something similar teaches books of history, 
They are hidden in the ruins of their ruins 
The scattered bricks of the walls show the seam of time, 
Black hair poverty in white hair 
The erosion caused by the tooth decay is shown, 
Freshly pressed rooms for fresh fresh air like Fafade 
Easy breaths tell the price of a broken sauce, 
There is also a few steps to go 
The calculation of the shaking dried leg burden, 
Throw away the burden of the burden from my shoulder to my friends 
In old age, everyone’s neck becomes dingy.
||असलियत||

कभी कभी उंची इमारतें अपनी बुलंदी पर इतराकर

अपनी ही बुनियादी औकात पर सवाल उठाया करती हैं,

बुलंदियों को होती हैं महसूस बुनियादें पुरानी सी कब्रें

ऊंचाई पर टंगी आंखे जमीन को हैसियत दिखाया करती हैं,

आसमान को ताकती मीनारें भी आ गिरती हैं जमीन पर

कुछ ऐसा ही तो पाठ इतिहास की किताबें सिखाया करती हैं,

खण्डहरों की बदहाली में ही छिपा है उनका सुनहरा कल

दीवारों की बिखरी हुई ईंटे वक्त का सितम दिखाया करती हैं,

सफेद बालों की अमीरी में झांकती काले बालों की गरीबी

दांतों के झडने से बने झिर्रियां असलियत दिखाया करती हैं,

ताजी ताजी हवा के लिए तरसते बंद कमरे जैसे फफेडे

आसान सी सांसों कीमत उखडी हुई सांसे बताया करती हैं,

चंद कदम चलना भी होता है कभी कभी बहुत ही दुश्वार

कंपकंपाती सूखी टांगे बोझ का हिसाब बताया जा करती हैं,

उतार फेंको गरूर का बोझ अपने कंधो से ऐ मेरे दोस्तों

बुढापे में तो सभी की ही गर्दनें डुगडुगी बन जाया करती हैं।

“Pkvishvamitra”

5 विचार “The Reality!!असलियत!!&rdquo पर;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s