Moody!!//मिजाज!!

I’m stuck in all ages for which I 

They have regarded the macho rhetoric as their belief, 
The storm of emotions searching in the idols of the stones 
The diamond of jealousy has been considered as a human effigy, 
Something unfinished was some unfavorable spam burden 
In the dark, glowing fireplaces have been considered as champs, 
There is no echo now, no threat is inklabi now 
It is considered as martyrdom in suicide, 
Who is warm by burning the Armanans Holi here 
In the hands, the ulcers are considered to be fatal
The truth lies on the face, always badhera mask 
Have considered the hideous hideous in the curtain as a policy, 
Regarding the consequences, then do the brains 
Unaware that those people who believe in Faith, 
Every pain in the ground makes the chest in the sky 
Due to the eyes moisture absorbed with leaves, 
Meaning everybody involved in the journey of the blind is blind 
Heart and liver have been treated as a passion.

मिजाज!!
चुराता रहा हूं तमाम उम्र कुछ लम्हे मैं जिसके लिए

वो बेरूखी के मिजाज को अपना ईमान मानते रहे हैं,

पत्थरों की मूर्तियों में खोजते रहे जज्बात के तूफान

जिंदादिली के दैरो हरम को इंसानी पुतला मानते रहे हैं,

कुछ ख्वाब अधूरे कुछ मंसूबे अधूरे अनचाहा बोझ थे

अंधियारे में चमचमाते जुगनूओं को चिराग मानते रहे हैं,

ना कोई गूंज है अब ना कोई धमक इंकलाबी है बाकी

बेखुदी में की गयी खुदकुशी को ही शहादत मानते रहे हैं,

अरमानों की होली जलाकर कौन तापता है हाथ यहां

हाथों में पडे हुए छालों को तकदीरी लकीरें मानते रहे हैं,

सच्चाई के चेहरे पर पडा होता है हमेशा बदरूहा नकाब

परदे में छिपी हुई बदनीयत को पाक नीयत मानते रहे हैं,

अंजाम की परवाह तो किया करते हैं दिमागी तिजारती

अनाडी नही थे वह लोग जो वफा को ईमान मानते रहे हैं,

आसमान के सीने में चसका करता है जमीन का हर दर्द

आंखों की नमी को पत्तों से टपकी हुई ओस मानते रहे हैं,

मतलब परस्ती की दौड में शामिल हर शख्स है अन्धा

दिल और जिगर वाले दरियादिली को जुनून मानते रहे हैं।।

“Pkvishvamitra”

9 विचार “Moody!!//मिजाज!!&rdquo पर;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s